पीएम मोदी ने किया विधानसभा के नए भवन का उद्घाटन, देश और झारखण्ड को दी ये सौगातें


    रांची स्थित श्री जगन्नाथ एचईसी मैदान में आयोजित समारोह के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने झारखण्ड को ढेरों सौगातें दी। इस समारोह में लोगों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री रघुवर दास ने संथाल परगना समेत पूरे झारखण्ड के लोगों को बधाई दी। संबोधन के क्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि आज से संथाल परगना समुद्री मार्ग के माध्यम से पूरी दुनिया से जुड़ गया है। व्यापार के मार्ग खुल गए वर्षों से विकास की बाट जोह रहे संथाल के लिए 3 वर्ष में वर्तमान सरकार ने विकास रूपी जलमार्ग का द्वार खोल दिया है। अब यहां के लोग प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार से आच्छादित होंगे।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि आज स्वर्णिम दिन है। राज्य के लोगों को लोकतंत्र का मंदिर मिल गया। झारखण्ड की संस्कृति ने उस भवन को और भी भव्य बना दिया है। इस भवन को भव्य स्वरूप देने के लिए उन मजदूरों को नमन जिन्होंने इसे तराशा है। 2014 से लेकर अब तक हमने लोकतांत्रिक आशाओं को पूरा किया है। उसी प्रकार इस नए भवन लोकतंत्र की आशाओं को पूर्ण करेंगे। झारखण्ड ने 14 वर्ष तक अपनी आकांक्षाओं को पल पल मरते देखा है। वर्तमान सरकार का लक्ष्य उन आशाओं, आकांक्षाओं को पूरा करना है।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि इस जगह से ही एक वर्ष पूर्व आयुष्मान भारत योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री जी ने किया था। इस योजना का लाभ लोगों को मिल रहा है। राज्य के 68 लाख परिवारों में से 57 लाख परिवार को योजना से जोड़ा गया। 400 करोड़ रुपये के अतिरिक्त बजट का प्रावधान सरकार ने किया। 25 सितंबर तक राज्य के 57 लाख परिवार को राज्य सरकार गोल्डेन कार्ड उपलब्ध करा उन्हें योजना से लाभान्वित कर देगी।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान मान-धन पेंशन योजना से देश और राज्य के 18 से 40 वर्ष के युवा किसानों को लाभ होगा। ऐसे किसानों को योजना के तहत 60 वर्ष की उम्र के बाद 3 हजार रुपये प्रति माह पेंशन दिये जाएंगे। इसके साथ ही खुदरा व्यापारियों एवं स्वरोजगारियों के लिए भी पेंशन की व्यवस्था की गई है। ये योजनाएं लाभुकों के सशक्तिकरण को बढ़ावा देगा। 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने के उद्देश्य से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का शुभारंभ हुआ। सरकार ने किसानों की चिंता की। अब किसानों को कर्जदार नहीं कर्ज देने वाला बनाना है। झारखण्ड के 35 लाख किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना और मुख्यमंत्री आशीर्वाद योजना के तहत न्यूनतम 11 और अधिकतम 31 हजार रुपये दिए जा रहे हैं।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड के आकांक्षी जिलों में अनुसूचित जाति व जनजाति समुदाय के बच्चों को शहरों की तरह गुणवत्तापूर्ण प्रदान करने के उद्देश्य से पूरे देश में 462 एकलव्य विद्यालय की स्थापना की जा रही है। इनमें से 69 आवासीय स्कूल झारखण्ड में खुलेंगे, जहां बच्चों को कौशल विकास, शिक्षा और खेल में निपुण किया जाएगा।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार ने ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए विकास से अछूते जम्मू कश्मीर से धारा 370 और 35A को हटा दिया। क्योंकि जम्मू कश्मीर आतंकवाद और अलगावाद का केंद्र बनता जा रहा था। वहां भारत का कानून लागू नहीं होता था। अब ऐसा नहीं है वर्तमान केंद्र सरकार ने अखंड भारत का सपना पूरा किया है। अब भारत एक है। अब बात पूरी हुई। दूसरी ओर केंद्र सरकार ने मुस्लिम महिलाओं को तीन तालाक अब मुक्ति दी। इसपर निर्णय लेते हुए कानून बनाया।