मुख्यमंत्री ने मानकी-मुंडा और स्कूली बच्चों के साथ किया सामूहिक भोजन


    मुख्यमंत्री रघुवर दास ने बुधवार को पश्चिमी सिंहभूम स्थि‍त पोड़ाहाट में एक कार्यक्रम के दौरान जिले के मानकी-मुंडा एवं स्थानीय स्कूली छात्र-छात्राओं के साथ सामूहिक रूप से भोजन ग्रहण किया। इस दौरान मानकी मुंडा बंधुओं ने मुख्यमंत्री का माला पहनाकर स्वागत किया। बता दें कि मुख्यमंत्री रघुवर दास ने हाल ही में लगान रसीद को निर्गत करने में मानकी-मुंडा की भूमिका को महत्व दिलाई है।

    गौरतलब है कि पश्चिमी सिंहभूम जिले में वर्ष 1836 में अंग्रेज सरकार के साथ असुरा मानकी के साथ बैठक में प्रस्तावित हुकुकनामा मानकी-मुंडा प्रथा का आधार है। हाल के वर्षों में रसीद काटने की प्रक्रिया ऑनलाइन की गई थी, लेकिन समाज के विकास में मानकी मुंडा की महत्ता को देखते हुए मुख्यमंत्री रघुवर दास के द्वारा पुनः इस जिले के साथ पूरे राज्य में लगान वसूली के इनके अधिकार को वापस किया गया है। वहीं, मानदेय राशि को दोगुनी कर सरकार के द्वारा इन्हें प्रोत्साहित भी किया गया है। सरकार यह जानती है कि क्षेत्र के विकास में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका है। कार्यक्रम के दौरान जिले के मानकी मुंडा संघ के अध्यक्ष गणेश पिंगुवा ने मंच से मुख्यमंत्री का साधुवाद किया। साथ ही कुछ अन्य मांगें भी उनके समक्ष रखी।