निर्बाध बिजली आपूर्ति सरकार की प्राथमिकता


    मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने मंगलवार को कहा कि झारखण्ड को निर्बाध बिजली की आपूर्ति सुनिश्चित करें। इसके लिए सरकार हर व्यवस्था उपलब्ध करा रही है। अधिकारी इसे गंभीरता से लें। जिन जिलों में दो-तीन माह में बिजली नहीं सुधरेगी, वहां के अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी। रांची में भी जो परेशानी है, उसे जल्द से जल्द ठीक करें। सरकार किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं करेगी। अधिकारी टाइमलाइन दें और पूरा ना कर सकें तो सीधी कार्रवाई होगी। इसके साथ ही गांव की हमारी जनता जो 70 साल से बिजली की बाट जोह रही थी, उन तक बिजली पहुंचा दी गई है। अब उन्हें अच्छी गुणवत्ता और 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराने के लिए आधारभूत संरचना तैयार हो रही है। सभी महाप्रबंधक इसमें स्वयं ध्यान देकर काम पूर्ण कराएं। मुख्यमंत्री ने बातें झारखण्ड मंत्रालय में झारखण्ड विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के महाप्रबंधकों के साथ राज्य में बिजली की स्थिति की समीक्षा बैठक में कही।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव-गांव में स्ट्रीट लाइट लगाई जा रही है। इसके लिए जो भी मदद की जरूरत हो, उसमें भी महाप्रबंधक सक्रियता दिखाएं। नए कनेक्शन दिए गए हैं। इस कारण लोड बढ़ा है। बाकी चीजों की जरूरत भी बढ़ी है। रघुवर दास ने कहा कि जो निर्बाध बिजली पहुंचाने के लिए मैनपावर सहित जो भी जरूरत है, उसकी सूची तैयार करें। तुरंत कार्रवाई होगी। महाप्रबंधक इसके लिए तय समय में तैयारी करें। मुख्यमंत्री ने सभी से टाइमलाइन बनाकर काम पूरा करने का निर्देश दिया।

    बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री सुनील कुमार वर्णवाल, ऊर्जा सचिव श्रीमती वंदना डाडेल, निगम के प्रबंध निदेशक राहुल पुरवार समेत अन्य अधिकारी उपस्थित थे।