कैलाश मानसरोवर से लौटे श्रद्धालुओं का सम्मान, मिले 1-1 लाख रुपये के चेक


    कैलाश मानसरोवर की तीर्थ यात्रा कर लौटे 75 तीर्थ यात्रियों को मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य सरकार की ओर से आर्थिक सहायता अनुदान के रूप में एक-एक लाख रुपए की राशि का चेक सौंपा । इस अवसर पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि भारत आध्यात्मिक एवं धर्म परायण देश है । सभी धर्मों को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना प्रारंभ की है। झारखण्ड के वैसे सभी धर्मों के धर्मावलंबी जो आर्थिक रूप से कमजोर अथवा गरीब परिवार से आते हैं उन्हें मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना के तहत देश के महत्वपूर्ण तीर्थ स्थानों का दर्शन राज्य सरकार द्वारा कराया जा रहा है ।  

    मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि अब तक राज्य के 5 हजार से अधिक लोगों को मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना का लाभ मिला है । राज्य सरकार द्वारा आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को उनके आशा के अनुरूप तीर्थ दर्शन कराने का कार्य प्रतिबद्धता के साथ किया जा रहा है । मुख्यमंत्री ने कहा कि भारतीय संस्कृति में लोक कल्याण परंपरा का इतिहास रहा है। राज्य सरकार इसी परंपरा को निभा रही है।

    कैलाश मानसरोवर की तीर्थ यात्रा से सकुशल लौटे तीर्थ यात्रियों से मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि आप सब सौभाग्यशाली हैं। आपने कैलाश मानसरोवर जैसी कठिन तीर्थ यात्रा को पूरा करने का पुण्य काम किया है ।  उन्होंने कहा कि आप जैसे तीर्थ यात्रियों के हौसलों से ही भारत विश्व गुरु बन सकेगा। आपसे प्रेरित होकर और भी जो श्रद्धालु कैलाश मानसरोवर जाने की इच्छा रखते हैं सरकार उन्हें प्रोत्साहित कर अनुदान के रूप में आगे भी 1 लाख रुपये देने का कार्य करेगी।

    मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि आप सभी लोग राज्य सरकार की नीति और जन कल्याणकारी योजनाओं के प्रति लोगों को जागरूक करें । प्रदेश की गरीब जनता को राज्य सरकार की योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ मिले यह सरकार की प्राथमिकता है । इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने तीर्थ यात्रियों सहित राज्य की सवा तीन करोड़ जनता को महाशिवरात्रि की शुभकामनाएं दी।

    मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा झारखण्ड के पर्यटन स्थलों को विकसित किया जा रहा है।  झारखण्ड में ऐसी कई सांस्कृतिक धरोहर हैं जिन्हें विकसित करने से रोजगार सृजन की बड़ी संभावनाएं हैं।  झारखण्ड में धार्मिक तीर्थ स्थल बहुत हैं। सभी धर्मों को सम्मान दिया जा रहा है। राज्य सरकार चतरा जिला के इटखोरी में दुनिया का सबसे बड़ा स्तूप बनाने का कार्य कर रही है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इटखोरी पहुंचे।  विदेशी पर्यटक राज्य के पर्यटन स्थलों पर आएंगे तो देश और राज्य में विदेशी मुद्रा का आवागमन होगा जिससे राज्य के साथ-साथ देश भी आर्थिक रूप से मजबूत होगा।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड के पर्यटन स्थल जल्द ही दुनिया की मानचित्र में नजर आएंगे, राज्य सरकार इस ओर प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है।

    इस अवसर पर पर्यटन, कला संस्कृति, खेलकूद एवं युवा कार्य विभाग के मंत्री श्री अमर कुमार बाउरी ने कहा कि राज्य सरकार के गठन के बाद से ही मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व में लोक कल्याणकारी योजनाओं को गरीब तबके के लोगों तक पहुंचाया जा रहा है । राज्य के विभिन्न धर्मावलंबी वर्ग के लिए महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना की शुरुआत की गई है ।  समाज का हर व्यक्ति तीर्थ करना चाहता है, परंतु बहुत से ऐसे लोग हैं जो गरीबी के कारण तीर्थ यात्रा पर जाने से वंचित रह जाते हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने यह निर्णय लिया है कि कैलाश मानसरोवर यात्रा में जाने वाले तीर्थ यात्रियों को आर्थिक सहायता अनुदान राशि के रूप में एक-एक लाख रुपये दिए जाएंगे।  राज्य सरकार द्वारा लिए गए इस निर्णय को पर्यटन विभाग द्वारा अमलीजामा पहनाया गया।  उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की दृढ़ इच्छाशक्ति का ही परिणाम है कि आज हम तीर्थ यात्रियों को अनुदान राशि उपलब्ध करा पा रहे हैं।

    इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कैलाश मानसरोवर तीर्थ यात्रा से लौटे तीर्थ यात्रियों में से श्रीमती रीना बाजपेई (बोकारो), श्री अभय कुमार (रांची), श्रीमती कुंती देवी (जमशेदपुर), श्री जय कुमार चौबे (जमशेदपुर), श्री श्रीकांत प्रसाद (जमशेदपुर), श्री स्वप्न चौधरी (जमशेदपुर), श्री सतीश कुमार (रांची), श्रीमती पूनम प्रसाद (रांची), श्री सुरेश कुमार अग्रवाल (मेदिनीनगर), श्रीमती सरोज देवी (मेदनीनगर), श्री जितेंद्र कुमार (खूंटी), श्री राजकुमार (रांची), श्री अनुज कुमार चौधरी (रांची), श्री महेंद्र कुमार अग्रवाल (धनबाद) श्री बद्रीनाथ दत्ता (दुमका) को एक-एक लाख रुपए की राशि का चेक सौंपा।

    खूंटी से कैलाश मानसरोवर तीर्थ यात्रा पर गए श्री जितेंद्र कुमार एवं श्रीमती कुंती देवी ने तीर्थ यात्रा की यादों को साझा किया । जितेंद्र कुमार ने कहा कि कैलाश मानसरोवर तीर्थ यात्रा करना अपने आप में एक बहुत ही गौरवशाली बात है। उन्होंने कहा कि कैलाश मानसरोवर की यात्रा से उनके जीवन में सकारात्मक ऊर्जा का संचार हुआ है । धनबाद जिला के महेंद्र कुमार अग्रवाल ने राज्य सरकार द्वारा दी गई 1 लाख रुपये की अनुदान राशि को वृद्धा आश्रम एवं दिव्यांग कल्याणार्थ दान देने की घोषणा की ।

    इस अवसर पर पर्यटन, कला संस्कृति, खेलकूद एवं युवा कार्य मंत्री श्री अमर कुमार बाउरी, पलामू सांसद श्री बीडी राम, विधायक श्री जयप्रकाश वर्मा, सचिव श्री राहुल शर्मा, निदेशक पर्यटन संजीव कुमार बेसरा, जेटीडीसी के जीएम श्री राजीव रंजन तथा विभिन्न जिलों से कैलाश मानसरोवर की तीर्थ यात्रा से लौटे तीर्थयात्री सहित अन्य लोग बड़ी संख्या में उपस्थित थे।