मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने झारखंड में भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) की परियोजनाओं की समीक्षा की


    अच्छी सड़कें विकास का परिचायक होती है, इसलिए सड़कों के निर्माण में गुणवत्ता का पूरा ख्याल रखा जाए ।   इसके साथ निर्धारित समय सीमा के अंदर सड़कों का निर्माण हो जाना चाहिए । मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने आज  पथ निर्माण विभाग और राष्ट्रीय भारतीय  राजमार्ग प्राधिकरण ( एनएचएआई) के अधिकारियों  से समीक्षा बैठक में उन  सड़क परियोजनाओं की  विस्तृत जानकारी ली, जिसका 3 अप्रैल को उद्घाटन- शिलान्यास  केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री श्री  नितिन गडकरी करेंगे ।

    एनएचएआई के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि झारखंड में भारतमाला परियोजना के तहत लगभग 1000 किलोमीटर सबके बनाई जा रही हैं इसमें लगभग 400 किलोमीटर सड़कों का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है जबकि 600 किलोमीटर सड़क बनाने का काम चल रहा है मुख्यमंत्री ने एनएचएआई को कहा कि सड़क निर्माण के बचे हुए काम को 6 महीने के अंदर पूरा कर लिया जाए

    मुख्यमंत्री ने कहा कि सड़कों के निर्माण के  दौरान पर्यावरण की काफी अनदेखी होती है खासकर झारखंड जैसे राज्य में पहाड़ों और जंगलों को काटकर सड़के बनाई जा रहे हैं यह भविष्य के लिए काफी चिंता की बात है उन्होंने एनएचएआई के पदाधिकारियों से कहा कि सड़कें बनाने में पहाड़ों और जंगलों के  संरक्षण का विशेष ख्याल रखा जाए ।

    केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी 3 अप्रैल को भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की 21 सड़क परियोजनाओं का ऑनलाइन उद्घाटन शिलान्यास करेंगे । इस मौके पर मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन भी मौजूद रहेंगे ।  ऑनलाइन समारोह में 7 सड़क परियोजनाओं का उद्घाटन और 14  सड़क  परियोजनाओं  का शिलान्यास होगा।  जिन सड़कों का उद्घाटन होना है उसकी कुल लंबाई 245.19  किलोमीटर और लागत लगभग 2433.66 करोड़ है  वही शिलान्यास किए जाने वाले 14 सड़क परियोजनाओं की कुल लंबाई 184.8  किलोमीटर  है और इस पर लगभग 754.71 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे ।

    1- घाघरा -गुमला सड़क  मजबूतीकारण

    2- हॉटगम्हरिया -जैंतगढ़ सड़क मजबूतीकरण

    3-महुलिया - बहरागोड़ा सड़क

    4- बीजूपाड़ा - कुडू फोरलेन

    5- कचहरी चौक रांची- पिस्का मोड-बिजुपाड़ा फोरलेन

    6- बरही हजारीबाग

    7 -पिस्का मोड़- पालम सेक्शन फोरलेन

    1-कोलेबिरा -सिमडेगा  एनएच 23 सड़क मजबूतीकरण और पुनर्निर्माण

    2-सिमडेगा -बांसजोर एनएच 23 सड़क मरम्मत और पुनर्निर्माण

    3-एनएच -23 पर चिंदनाला  पर आरसीसी ब्रिज निर्माण

    4-एनएच 23 पर स्थानीय नाला पर आरसीसी ब्रिज निर्माण

    5-एनएच 99 पर 79 से 117 किलोमीटर  तक सड़क का चौड़ीकरण एवं  मजबूती करण

    6-एनएच 22 पर 11 से 30 किलोमीटर के बीच सड़क का चौड़ीकरण एवं अन्य कार्य

    7-एनएच 100 पर 48 से 62 किलोमीटर के बीच सड़क का चौड़ीकरण एवं अन्य कार्य

    8-एनएच 133 पर 23 से 62 किलोमीटर के बीच सड़क का चौड़ीकरण एवं अन्य कार्य

    9-एनएच 345 पर अन्नराज घाटी , गढ़वा में   घुमावदार सड़क में सुधार एवं अन्य कार्य

    10-कुडू घाघरा टू लेन सड़क का चौड़ीकरण एवं अन्य कार्य

    11-एनएच 218 पर 10 से 54 किलोमीटर के बीच सड़क का  मजबूती करण और पुनर्निर्माण

    12- एनएच 99 पर चंदवा में   आरओबी का निर्माण

    13- एनएच 114, ए  पर 68 से 87 किलोमीटर पर सड़क का  मजबूतीकरण एवं अन्य कार्य

    14- एनएच 114, ए पर 245 और 260 किलोमीटर पर ब्रिज तथा एनएच 419 के 46

      समीक्षा बैठक में मुख्य सचिव श्री  सुखदेव सिंह,  मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री राजीव अरुण एक्का,  पथ निर्माण विभाग के सचिव श्री सुनील कुमार,  पथ निर्माण विभाग के अभियंता प्रमुख श्री मुरारी भगत,  एनएच के मुख्य अभियंता श्री एनपी शर्मा,  एनएचएआई के क्षेत्रीय पदाधिकारी श्री एस के मिश्रा और एमओआरटीएस के क्षेत्रीय पदाधिकारी श्री अभिजीत कुमार उपस्थित थे ।

    Recent news