1,141 SC/ST, OBC और अल्पसंख्यक युवाओं को व्यापार के लिए मिला लोन


    मुख्यमंत्री रघुवर दास ने शुक्रवार को रांची स्थि‍त रिम्स ऑडिटोरियम में एसटी/एससी, ओबीसी, अल्पसंख्यक और दिव्यांग जनों के बीच ऋण एवं परिसंपत्तियों का वितरण किया। इस  दौरान उन्होंने कहा कि मैंने भी एक बार स्वरोजगार और परिवार की आर्थिक स्थिति को ठीक करने के लिए बैंक से 5 लाख रुपये का लोन लिया था। ऋण लेकर मैंने "जनता इलेक्ट्रिकल" नामक दुकान का संचालन शुरू किया। ऋण लेकर ईमानदारी से कार्य किया और बैंक का ऋण भी चुकाया। आप भी ईमानदारी से कार्य करें और ऋण भी जरूर चुकाएं। ऐसा करने से आपको और भी बड़ा ऋण मिलेगा। आप सभी सत्य की राह पर चलें। यह आपको सुकून देगा। जितना आप संघर्ष करेंगे, उतना ही मजबूत आपका व्यक्तित्व होगा।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अल्पसंख्यक वर्ग और पिछड़ा वर्ग वित्त निगम के लिए अलग से बजट का प्रवधान किया, ताकि सभी को रोजगार व स्वरोजगार के लिए ऋण उपलब्ध कराया जा सके। यही वजह है आज आप सभी को लोन मिल रहा है। मुझे मेरे पुराने दिन याद थे। लोन लेने का अनुभव मुझे है कि किस प्रकार बैंक से लोन लेने में परेशानी होती है। 19 साल में पहली बार अल्पसंख्यक समुदाय को कल्याण विभाग के माध्यम से वर्तमान सरकार ऋण उपलब्ध करा रही है। 2014 से पूर्व 14 वर्ष में इस श्रेणी में सिर्फ 4 हजार लोगों को लोन उपलब्ध कराया गया था। वर्तमान सरकार साढ़े 4 वर्ष में इस श्रेणी में ढाई हजार लोगों को लोन प्रदान कर रोजगार व स्वरोजगार उपलब्ध करा रही है। आज 1 हजार 141 अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अल्पसंख्यक वर्ग, पिछड़ा वर्ग और दिव्यांगों के बीच लोन का वितरण किया। अनुसूचित जाति के 497, अनुसूचित जनजाति के 228, पिछड़े वर्ग के 183, अल्पसंख्यक वर्ग के 227 व दिव्यांग सहित अन्य लाभुकों के बीच लोन व परिसंपत्तियों का वितरण किया गया।

    रघुवर दास ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में परिवहन की असुविधा देख पीड़ा होती है। आप को सरकार 25 प्रतिशत अनुदान पर व्यवसायिक वाहन उपलब्ध कराएगी। बैंक से ऋण निर्गत कराना सरकार का काम है। आप आगे आएं, सरकार आपके साथ है। ग्रामीणों को यह सुविधा नहीं होने से परेशानी होती है। साथ ही ऋण लेने वाले सभी लोगों से अनुरोध है कि आप श्रम शक्ति अभियान से जुड़कर अपना निबंधन अवश्य करा लें। यह योजना आपके भविष्य में सहायक होगा।

    इस अवसर पर अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष कमाल खान, राज्य अनुसूचित आयोग के अध्यक्ष शिवधारी राम, कल्याण विभाग के सचिव हिमानी पांडे, आदिवासी कल्याण आयुक्त शिशिर कुमार सिन्हा, विशेष सचिव कल्याण सुबोध कुमार सोरेन, अपर सचिव कल्याण विभाग निसार अहमद समेत अन्य लोग उपस्थित रहे।