जनजातीय समाज के बच्चों के लिए शहरी क्षेत्र में 446 छात्रावास


    जनजातीय समाज के बच्चों के लिए शहरी क्षेत्र में 446 छात्रावास

    राज्य के सुदूरवर्ती इलाकों में रहने वाले जनजातीय समाज के छात्रों को शहरों में रह कर पढ़ाई करने के लिए बनाए गए छात्रावासों की संख्या 446 हो गई है। 2014 तक एससी-एसटी छात्रावास की संख्या सिर्फ 417 थी। पिछले 4 सालों में 29 छात्रावासों का निर्माण करा कर रघुवर सरकार ने जनजातीय समाज के छात्रों को आगे बढ़ने के लिए समान अवसर उपलब्ध कराए हैं।