कृषि फसल विकास दर में झारखण्ड ने बनाया रिकॉर्ड


    कृषि फसल विकास दर में झारखण्ड ने बनाया रिकॉर्ड

    वर्ष 2013-14 में कृषि फसल विकास दर -4.5 प्रतिशत के आस पास थी। वर्ष 2016-17 में यानि 4 सालों में ये बढ़कर 14.2 प्रतिशत हो गई है। दरअसल, पिछले चार साल में अन्नदाता किसानों के लिए रघुवर सरकार ने कई अहम योजनाएं चलाई हैं जिससे न सिर्फ कृषि उत्पादन बढ़ी बल्कि किसानों में खेती को लेकर नया उत्साह भी देखने को मिल रहा है। किसानों ने अपनी क्षमता का पूर्ण उपयोग करते हुए अपनी मेहनत और लगन से रिकॉर्ड कृषि उत्पादन किया। नतीजा, कृषि फसल विकास दर में 4 साल में 19 प्रतिशत से ज्यादा का उछाल आया। कृषि के क्षेत्र में आया ये बदलाव साफ दिखा रहा है कि 2022 तक किसानों की आय को दोगुनी करने के लक्ष्य की ओर झारखण्ड तेजी से आगे बढ़ रहा है। कृषि विकास दर की गति को और तेज करने के लिए राज्य सरकार ने किसानों को खाद, बीज और कीटनाशक पर 50 फीसदी अनुदान का लाभ दे रही है। अब तक 12 लाख किसान लाभ लेने के लिए अपना नाम दर्ज करा चुके हैं।