12 सितंबर को प्रधानमंत्री आएंगे रांची, मुख्य सचिव ने की तैयारियों की समीक्षा


    प्रधानमंत्री के रांची आगमन को लेकर की जा रही तैयारियों की मुख्य सचिव डॉ. डीके तिवारी ने अधिकारियों के साथ समीक्षा  बैठक की। इस दौरान उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 12 सितंबर को रांची आएंगे। वे कुल दो घंटे रांची में रहेंगे। इस दौरान वे पांच योजनाओं का शिलान्यास, उद्घाटन और लॉन्चिंग करेंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री श्री जगन्नाथ मैदान (प्रभात तारा मैदान) में लोगों को संबोधित करेंगे। बता दें कि प्रधानमंत्री के आगमन से लेकर प्रस्थान तक के एक-एक बिंदु पर विचार-विमर्श किया गया तथा संबंधित अधिकारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई। मुख्य सचिव ने इस बात पर जोर दिया कि कार्यक्रम में भाग लेने वाले लोगों की प्रत्येक सुविधा का ध्यान रखा जाए ऐसी व्यवस्था की जाए कि आने वालों को कोई परेशानी ना हो। सभी आवश्यक साइनेज और जन सुविधाओं का की व्यवस्था की जाए।

    मुख्य सचिव ने बताया कि श्री जगन्नाथ मैदान में आयोजित मुख्य कार्यक्रम में लगभग एक लाख लोग शामिल होंगे। प्रधानमंत्री 12 सितंबर को सुबह 11 बजे रांची के बिरसा मुंडा हवाई अड्डे पर पहुंचेंगे। वहां से सीधे नवनिर्मित विधानसभा भवन परिसर जाएंगे। विधानसभा भवन का अवलोकन करेंगे। इसके सेंट्रल हॉल में सभी विधायकों से मिलेंगे। इस अवसर पर वे नये विधानसभा को लेकर एक डाक टिकट भी जारी करेंगे। वहीं, बड़े स्क्रीन पर पूरे विधानसभा भवन की बनावट और व्यवस्था को देखेंगे। वहां से प्रधानमंत्री श्री जगन्नाथ मैदान में आयोजित मुख्य कार्यक्रम में पहुंचेंगे। मालूम हो कि विधानसभा भवन का निर्माण 2016 में 465 करोड़ की लागत से शुरू हुआ था। यह कुल 39 एकड़ क्षेत्रफल में फैला है। यह तमाम आवश्यकताओं के अनुरूप सुविधाओं से युक्त है। इसमें 162 विधायकों के बैठने की सुविधा है।

    मुख्य सचिव ने बताया कि श्री जगन्नाथ मैदान से प्रधानमंत्री केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना पीएम किसान मानधन योजना की ऑनलाइन शुरुआत करेंगे। इसी के साथ देश भर के लाभुक किसानों को इससे संबंधित एक मैसेज एसएमएस के माध्यम से उनके मोबाइल नंबर पर चला जाएगा। झारखण्ड के तमाम जिलों के लाभुक किसान भी प्रधानमंत्री के इस कार्यक्रम का हिस्सा बनेंगे। गौरतलब है कि किसान मानधन योजना से लघु व सीमांत किसानों को 60 वर्ष की आयु के बाद तीन हजार रुपये मासिक पेंशन मिलेगी। उनके निधन के बाद उनकी पत्नी लाभुक होंगी और उन्हें पेंशन की आधी राशि मिलेगी। 18 से 40 वर्ष के किसान आयु अनुसार प्रीमियम की राशि देकर इस योजना का हिस्सा बन सकेंगे।

    मुख्य सचिव ने बताया कि अनुसूचित जनजाति समुदाय के छात्र-छात्राओं को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा से जुड़ी एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों की लॉन्चिंग भी प्रधानमंत्री झारखण्ड की धरती से ऑनलाइन बटन दबाकर करेंगे। यह योजना कम से कम 20 हजार की जनजातीय आबादी वाले प्रखंडों में लागू होगी। एक स्कूल में कक्षा 6 से 12 तक के कुल 480 विद्यार्थियों को पढ़ाया जाएगा तथा उनपर प्रति छात्र 1.09 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे। झारखंड में कुल 69 प्रखंडों में एकलव्य विद्यालय खोलने की योजना है, जिसमें से इस मार्च 2020 से पहले 23 स्कूल खुलेंगे। इसके निर्माण के लिए भूमि उपलब्ध करायी जा चुकी है इसके लिए 524 करोड़ रुपये की स्वीकृति मिल चुकी है। केंद्र सरकार के परिवहन एवं जलमार्ग मंत्रालय की ओर से साहेबगंज में गंगा नदी किनारे निर्मित मल्टी मॉडल पोत टर्मिनल का उद्घाटन प्रधानमंत्री रांची से ऑनलाइन करेंगे। उद्घाटन के साथ वहां उपस्थित लोगों से भी प्रधानमंत्री ऑनलाइन रू-ब-रू होंगे। वह पोत पर माल लदाई और अन्य व्यवस्थाओं का भी ऑनलाइन अवलोकन करेंगे। मालूम हो कि इस परियोजना की लागत 299.10 करोड़ रुपये है। यह जलमार्ग सड़क मार्ग और रेल मार्ग से भी जुड़ा है। यहां से प्रतिवर्ष 1.07 मिलियन टन स्टोन चिप्स तथा 1 मिलियन टन कोयला की ढुलाई हो सकेगी। इसके साथ ही 2500 लोगों को सीधे रोजगार भी मिलेगा। इससे पूरे क्षेत्र की सामाजिक, आर्थिक व्यवस्था में बदलाव आएगा।

    मुख्य सचिव ने बताया कि झारखण्ड को नया विधानसभा मिलने के बाद जल्द ही नया सचिवालय भी मिलेगा। इसका भी शिलान्यास प्रधानमंत्री करेंगे। ईस्ट और वेस्ट ब्लॉक के रूप में निर्मित होनेवाला नया सचिवालय भवन भी नये विस भवन की तरह सभी आवश्यक सुविधाओं से युक्त और राज्य की कला संरचना से आकर्षण का केंद्र होगा। इसके निर्माण के लिए 1566.69 करोड़ रुपये की स्वीकृति दी जा चुकी है। यह भवन कुल 23 लाख 60 हजार 250 वर्ग फीट में निर्मित होगा। समीक्षा बैठक में राज्य के विकास आयुक्त, डीजीपी सहित सभी विभागों के सचिव और केंद्र और राज्य के अधिकारी मौजूद थे।