योग से मिलेगी रांची को अंतर्राष्ट्रीय पहचान


    मुख्य सचिव डॉ. डीके तिवारी ने योग दिवस 21 जून के मुख्य कार्यक्रम के लिए रांची का चुनाव करने के लिए केंद्र सरकार का आभार जताते हुए कहा कि इसके आयोजन से रांची की अंतर्राष्ट्रीय पहचान बनेगी। रांची में विदेशी मीडिया प्रतिनिधियों के साथ कई अन्य लोग भी जुटेंगे। कार्यक्रम के ग्लोबल प्रसारण के साथ उसमें रांची शहर की खूबियां भी झलकेंगी। इससे भविष्य में पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। मुख्य सचिव आज झारखण्ड मंत्रालय में योग दिवस कार्यक्रम को लेकर सभी विभागों, संगठनों और संस्थाओं के साथ तैयारियों में समन्वय बनाने के लिए आहूत बैठक को संबोधित कर रहे थे।

    मुख्य सचिव ने पूर्व में देश में योग दिवस के मुख्य कार्यक्रमों फीड बैक लेते हुए रांची के कार्यक्रम को स्वच्छ एवं साफ सुथरा बनाने पर बल दिया। उन्होंने निर्देश दिया कि पूरा प्रशासन कार्यक्रम के दौरान स्वच्छता, समय और सुरक्षा को प्राथमिकता दे। इसके लिए तय हुआ कि कार्यक्रम के दौरान पानी के बोतल वितरित नहीं किए जाएंगे। उसकी जगह घड़े का पानी उपलब्ध कराया जाएगा। कार्यक्रम स्थल और उसके बाहर टॉयलेट की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया गया। साथ ही योग करने आए प्रतिभागियों को असुविधा नहीं हो, इसके लिए जगह- जगह साइनेज (निर्देश पट्ट) लगाने का भी निर्देश दिया गया। नाश्ता का पैकेट कार्यक्रम की समाप्ति के बाद प्रतिभागियों को दिया जाएगा। वहीं कार्यक्रम की समाप्ति के बाद प्रतिभागियों से अपील करने को कहा कि वे अपना कोई सामान कार्यक्रम स्थल पर छोड़ कर नहीं जाएं, जिससे गंदगी फैले।

    कार्यक्रम में भाग लेनेवाले आम लोगों के लिए इंट्री का समय सुबह 3 से 5 बजे तक होगा। लोग समय से पहुंचे इसके लिए जिला प्रशासन को पर्याप्त बसों को विभिन्न मार्गों पर परिचालन का निर्देश दिया गया। वहीं वीआइपी प्रतिभागियों के लिए सुबह 6 बजे तक प्रवेश की सुविधा होगी। उसके बाद कोई भी प्रवेश नहीं कर पाएगा। कार्यक्रम के समय बारिश की आशंका के मद्देनजर प्रशासन को विशेष व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया। प्रतिभागियों के मोबाइल और जूतों को बारिश से बचाव के लिए प्लास्टिक कवर दिए जाएंगे। प्रतिभागियों को अनावश्यक सामान नहीं लाने का अनुरोध करते हुए बारिश के समय उन्हें अपने स्थान पर बने रहने का सुझाव दिया गया। पूर्व के अनुभवों के आधार पर प्रतिभागियों की ट्रेनिंग के दौरान एक लय में योगासन करने का अभ्यास कराने का निर्देश दिया गया। बैठक में भारत सरकार के आयुष मंत्रालय के सचिव राजेश कोटेचा, डीजीपी के एन चौबे, स्वास्थ्य सचिव डॉ नितिन मदन कुलकर्णी, इनकम टैक्स के चीफ कमिश्नर, झारखण्ड के एजी,  एडीजी, रांची विवि के कुलपति, योगा संगठनों के प्रतिनिधि, कई विभागों के सचिव और रांची के उपायुक्त और एसएसपी आदि मौजूद थे।