जल्द रौशन होगा संपूर्ण झारखण्ड- सीएम


    मुख्यमंत्री रघुवर दास ने उजाला दिवस के मौके पर शुक्रवार को रामगढ़ की जनता को करोड़ों रुपए की सौगात दी। उन्होंने कई योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया। मुख्यमंत्री ने रामगढ़ जिले को राज्य का ऐसा पहला जिला घोषित किया, जिसके सभी 305 गांव में बिजली उपलब्ध हो गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिजली के बिना विकास अधूरा है। पूर्व में बिजली की आधारभूत संरचना एवं बिजली संचरण लाइन में ध्यान नहीं दिया गया जिसके कारण पूरे राज्य में बिजली की आंख  मिचौली हो रही है। राज्य में कुल 118 ग्रिड सब स्टेशन की जरूरत के विरूद्ध मात्र 38 ग्रिड सब स्टेशन है। जिनके कारण संचरण की खामियां मौजूद है । अभी 80 ग्रिड स्टेशन का काम तेजी से चल रहा है, जिसकी हर माह मॉनिटरिंग की जा रही है। 12 ग्रिड करीब-करीब बनकर तैयार हैं। एक साल के अंदर राज्य के  एक-एक घर में बिजली उपलब्ध कराने के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। पूरे राज्य में ट्रांसमिशन लाइनों को दुरूस्त किया जा रहा है। आगामी दिसंबर 2018 तक राज्य के हर घर में बिजली कनेक्शन उपलब्ध कराए जाने के लक्ष्य के प्रति सरकार गंभीरता से काम कर रही है। उक्त बातें मुख्यमंत्री ने रामगढ़ जिले को विधिवत शत प्रतिशत विद्युतीकरण करने की घोषणा करते हुए कही।

    रघुवर दास ने कहा कि बिजली आती और जाती है, इसका समाधान बन रहे नए ग्रिड पूरा करेंगे। इस कार्य में कुछ वक्त लगेगा। आज जो विरोध कर रहे हैं, उन्हें इसका जवाब देना चाहिए। वे जवाब नहीं दे सकते, क्योंकि उनकी नीति और नियत दोनों ठीक नहीं थी।

    रघुवर दास ने कहा कि आजादी के 67 साल बाद भी झारखण्ड के मात्र 38 लाख घरों में ही बिजली पहुंच पाई थी। वर्ष 2014 तक 30 लाख घरों में बिजली पहुंचाना बाकी रह गया था। हमारी सरकार ने पिछले साढ़े 3 साल में 23 लाख परिवारों तक बिजली पहुंचाने का काम किया है। बाकी बचे 7 लाख परिवारों तक दिसंबर माह 2018 तक बिजली पहुंचाई जाएगी। राज्य में 245  सुदूरवर्ती एवं पहाड़ी गांव ऐसे हैं, जहां ट्रांसमिशन लाइन ले जाने में कठिनाई है, वहां सोलर ग्रिड के माध्यम से घरों में बिजली का कनेक्शन दिया जा रहा है। बिरहोर, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, आदिवासी, दलित शोषित, समाज के सभी वर्गों के परिवारों तक बिना कोई भेदभाव के बिजली उपलब्ध कराना सरकार का लक्ष्य है। राज्य में बिजली की कोई कमी नहीं है, बस आधारभूत संरचनाओं को सुदृढ़ करना है, तभी जीरो पावर कट बिजली जनता को उपलब्ध हो सकेगी।

    “हमारे लिए सत्ता माध्यम है जनता की सेवा करने का। पिछले साढ़े तीन साल में सरकार पर एक भी आरोप नहीं लगा, जो हमारी कार्य संस्कृति को उजागर करती है। जिसका ताजा उदाहरण है पतरातू में प्रधानमंत्री द्वारा शिलान्यास किया गया 4 हजार मेगावाट का पावर प्लांट।”

    मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड पूरे देश को रोशन करने में सक्षम है, लेकिन पूर्व में कोयला बेचकर राजस्व की उगाही की गई। अगर पावर प्लांट स्थापित होते तो आज झारखण्ड अन्य राज्यों को बिजली बेच रहा होता। बावजूद इसके अब सरकार अपनी बिजली और अपना इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार करने में जुट गई है। जल्द DVC व अन्य पर से निर्भरता समाप्त होगी। श्री रघुवर दास ने कहा कि वर्तमान सरकार की योजनाएं गरीब, शोषित, पीड़ित, वंचित, महिलाओं और युवाओं को केंद्रित कर लागू की गई है। उनकी शिक्षा, स्वास्थ्य का पूर्ण ध्यान रखा गया है। आप भी इस विकास के वाहक बन राज्य सेवा और देश सेवा में योगदान दें।

    “राज्य विकास की ओर अग्रसर है। वर्ष 2022 तक नया झारखण्ड बनाना हम सबों का लक्ष्य होना चाहिए। विकास के रास्ते पर किसी तरह की बाधा बर्दाश्त नहीं की जाएगी। राज्य की जनता तीव्र विकास चाहती है। जनशक्ति और सरकार की शक्ति मिलकर समृद्ध झारखण्ड का निर्माण करना सरकार की प्राथमिकता है। प्रत्येक सेक्टर में विकास का रोड मैप राज्य सरकार ने तैयार कर लिया है। विकास के सभी कार्य समय सीमा के अंतर्गत हो, यह राज्य सरकार ने तय किया है। जन कल्याणकारी योजनाओं के सफल संचालन में जनता की भागीदारी महत्वपूर्ण होगी।”

    मुख्यमंत्री ने कहा कि रामगढ़ जिला को राज्य का पहला पूर्ण विद्युतीकरण जिला बनने का गौरव प्राप्त हुआ है, यह जिलावासियों के लिए गर्व का विषय है। उन्होंने रामगढ़ जिले के सभी लोगों के साथ सभी पंचायतों के मुखिया को शत प्रतिशत विद्युतीकरण में सक्रिय सहयोग के लिए धन्यवाद दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि रामगढ़ जिला को राज्य का प्रथम ओडीएफ जिला होने का सम्मान भी प्राप्त है। उन्होंने लोगों से अपील किया की वे रामगढ़ जिले के सभी लोगों को शौचालयों के शत प्रतिशत उपयोग के लिए प्रेरित करें, ताकि स्वच्छता गांव से स्वस्थ गांव की ओर का हमारा प्रयास सफल हो।

    “जिला के खनिज संपदा से मिलने वाले रॉयल्टी की 30% राशि को घर-घर तक शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने हेतु खर्च करने का सरकार द्वारा प्रावधान बनाया गया है। आने वाले 1 वर्ष में राज्य के प्रत्येक घर में बिजली एवं शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जाएगा।”

    रघुवर दास ने कहा कि विकास की किरण समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचना सरकार का लक्ष्य है। इसके लिए बिजली, सड़क और पेयजल हर घर को सुलभ कराने एवं विधि व्यवस्था को दुरुस्त करने में सरकार प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। राज्य में पिछले साल में 3 वर्षों में गुणवत्तापूर्ण सड़क का जाल बिछाया गया है। ग्रामीण क्षेत्रों  में सड़क कनेक्टिविटी बढ़ाया गया है। हर आदमी का अधिकार है कि वह सुरक्षित एवं सम्मान पूर्वक जीवन जीये। इसके लिए सरकार ने अपराधियों पर नकेल कसा है। सफेदपोश अपराधियों को भी नहीं बख्शा जाना है। कोयला खनन क्षेत्र में लोडिंग अनलोडिंग का काम विस्थापितों की कॉपरेटिव को दिया जाना है जिसके अध्यक्ष उपायुक्त होंगे

    मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले साढ़े तीन वर्ष में उग्रवाद के क्षेत्र में काफी कारगर कार्रवाई की गई है। झारखण्ड में उग्रवाद अब अंतिम सांसे गिन रहा है।

    मुख्यमंत्री रघुवर दास ने चितरपुर एवं पतरातू के ग्रिड सब स्टेशन का उद्घाटन किया। साथ-साथ 132/33 केवी ग्रिड सब स्टेशन एवं 132 डबल सर्किट संचरण लाइन की आधारशिला रखी। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री के द्वारा जिला खनिज निधि से जलापूर्ति  हेतु कुल 26 करोड़ की लागत से बनने वाली 9 योजनाओं का शिलान्यास किया गया। रामगढ़ जिले के सभी 6 प्रखण्डों में 27 करोड़ की लागत से निर्मित 351 सौर ऊर्जा पर आधारित जलापूर्ति योजनाओं का उद्घाटन भी संपन्न हुआ।

    इस अवसर पर पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री श्री चंद्रप्रकाश चौधरी ने सभी रामगढ़ वासियों का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि इसी प्रकार से सभी लोगों के सहयोग से पेयजल आपूर्ति के कार्य में भी मिसाल कायम करना है। प्रधान सचिव ऊर्जा  डॉ नितिन मदन कुलकर्णी ने रामगढ़ जिले में विद्युतीकरण की दिशा में किए गए कार्यों पर प्रकाश डाला। जेबीएनएल के एमडी श्री राहुल पुरवार ने पूरे राज्य में ट्रांसमिशन लाइनों को पूरी तरह योग्य बनाये रखने किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी।

    मुख्यमंत्री ने विशेष सहयोग के लिए पांच मुखिया, जे बी एन एल के पदाधिकारियों, कर्मचारियों सहित रामगढ़ की उपायुक्त श्रीमती राजेश्वरी बी. को भी सम्मानित किया। इस अवसर पर राज्य 20 सूत्री के उपाध्यक्ष श्री राकेश प्रसाद, जिला परिषद अध्यक्ष श्री ब्रह्मदेव महतो, आरक्षी अधीक्षक सुश्री निधि द्विवेदी मंचासीन थी। धन्यवाद ज्ञापन रामगढ़ की उपायुक्त श्रीमती राजेश्वरी बी ने किया।

    इस मौके पर अपर्णा सेन गुप्ता ने मुख्यमंत्री को क्षेत्र की समस्याओं से संबंधित ज्ञापन सौंपा। जिसपर मुख्यमंत्री ने कहा कि समस्याओं का समाधान होगा। साथ ही कहा कि सुशांतो सेन गुप्ता हत्याकांड में अभी सीबीआई कोर्ट में गवाही हो रही है। मुझे कानून पर भरोसा है। गवाह बिना डरे सच्चाई सामने रखें, ताकि दोषियों को सजा मिले। इस अवसर पर मंत्री श्री अमर कुमार बाउरी, धनबाद सांसद श्री पशुपतिनाथ सिंह, धनबाद विधायक श्री राज सिन्हा, सिंदरी विधायक श्री फूलचंद मंडल व अन्य उपस्थित थे।

    जल के लिए लड़ने वाले सुशांतो सेन की नगरी निरसा में जलापूर्ति योजना का शुभारंभ

    माननीय मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि धनबाद जिला के निरसा की पावन भूमि में आज समाज के सर्वांगीण विकास हेतु हमेशा तत्पर रहने वाले स्वर्गीय सुशांतो सेन की श्रद्धांजलि सभा में आकर मैं अभिभूत हुआ हूं। सुशांतो सेन जी ने निरसा के उत्थान के लिए यहां के लोगों को मूलभूत सुविधाएं प्रदान करने हेतु संघर्षरत रहे। यहां के लोगों को पानी उपलब्ध कराने के लिए अपनी आवाज़ बुलंद किया था। आज उन्हीं की पावन भूमि में राज्य सरकार ने जलापूर्ति योजना का शुभारंभ किया है। उपरोक्त बातें मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने धनबाद के निरसा में स्वर्गीय सुशांतो सेन गुप्ता की श्रद्धांजलि सभा में कही।

    रघुवर दास ने कहा कि विकास में आप सभी सहयोग करें। आप सभी को एक बात समझनी होगी कि विकास से ही गरीबी दूर हो सकती है। इसलिए इस शहादत दिवस के दिन सभी संकल्प लें कि आप सुशांतो जी के सपनों का निरसा बनायेंगे।