मुख्यमंत्री ने किया ‘कर्ता एप’ का शुभारंभ, इस सेवा से जुड़े लोगों को रोजगार मिलने में भी होगी आसानी


    मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मंगलवार को कहा कि आज के आईटी युग में तकनीक के इस्तेमाल से हम रोजमर्रा के काम आसानी से कर सकते हैं। आम लोग आसानी से छोटे-मोटे काम निपटा सकते हैं। इस कड़ी में "कर्ता एप" की शुरुआत एक सराहनीय कदम है। इस एप के माध्यम से लोग प्लम्बर, इलेक्ट्रिशियन, हाउस कीपिंग सर्विस, ड्राइवर, गार्ड, नर्सिंग आदि की सेवाएं घर बैठे पा सकेंगे। इससे न केवल आम लोगों को सुविधा होगी, बल्कि इस सेवा से जुड़े लोगों को भी आसानी से काम के लिए एक प्लेटफॉर्म मिल जाएगा। मुख्यमंत्री ने ये बातें झारखण्ड मंत्रालय में "कर्ता परियोजना" की शुरुआत करते हुए कहीं।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि आम लोग इसे अपने मोबाइल पर डाउनलोड करें और सेवा का लाभ लें। उन्होंने विभाग के अधिकारियों से कहा कि इससे जुड़े सभी सेवा प्रदाताओं की पूरी जांच कर इसमें शामिल करें। इस दौरान उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित सेवा प्रदाताओं से बातचीत कर उनकी जरूरत व सुझाव को भी जाना। रघुवर दास ने कहा कि सभी सेवा प्रदाताओं को प्रधानमंत्री श्रमशक्ति अभियान के तहत श्रम विभाग से पंजीकृत कराएं, ताकि सभी श्रमिकों को सरकार की योजनाओं का लाभ मिल सके। इसमें दुर्घटना पर मृत्यु के दौरान दो लाख रुपये की तत्काल सहायता, बच्चों की पढ़ाई के लिए छात्रवृत्ति, सेफ्टी किट आदि मिल सकेंगे। उन्होंने कहा कि अक्टूबर माह तक राज्य में चल रहे विभिन्न परियोजना से जुड़े मजदूरों का भी भवन सन्निर्माण बोर्ड से निबंधन पूरा करा लें। दीपावली पर सरकार बोर्ड के से पंजीकृत श्रमिक बहनों को साड़ी व श्रमिक भाइयों को पेंट-शर्ट देगी।

    इस अवसर पर नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि राज्य सरकार लोगों को बेहतर सुविधा देने के लिए प्रतिबद्ध है। इस योजना से लोग घर बैठे सुविधा पा सकेंगे। इससे जुड़ी परेशानी के निदान के लिए एक कॉल सेंटर भी शुरू किया जा रहा है। वहीं, राज्य के मुख्य सचिव डीके तिवारी ने इस एप को अधिक से अधिक यूजर फ़्रेंडली बनाने पर जोर दिया। कार्यक्रम में नगर विकास सचिव अजय कुमार सिंह ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा स्मार्ट सिटी मिशन द्वारा चलाए जा रहे “वन सिटी, वन इंपैक्ट” कार्यक्रम के तहत रांची में इसकी शुरुआत की गई है। मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव सुनील कुमार वर्णवाल ने कर्ता एप के अधिक से अधिक प्रचार प्रसार करने पर जोर दिया।

    स्मार्ट सिटी के मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी अमित कुमार ने बताया कि इस एप के तहत बड़ी संख्या में विभिन्न क्षेत्र के कुशल व अर्द्ध कुशल सेवा प्रदाताओं को सूचीबद्ध किया है। इसे आसानी से गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। जल्द ही इसे आईओएस पर भी उपलब्ध कराया जाएगा। लोग karta.org.in से भी इस सेवा व एप का लाभ ले सकते हैं। कार्यक्रम में इससे जुड़े अधिकारियों एवं सेवा देने वाले लोग सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।