• Raghubar Das FB
  • Raghubar Das Twitter
  • Raghubar Das Youtube
  • -A +A
  • A
  • A
  • menu

स्वीडि‍श कंपनी खरीदेगी झारखण्ड का वनोपज, 30 हजार लोगों को मिलेगा रोजगार


    मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने शुक्रवार को झारखण्ड मंत्रालय में स्वीडि‍श कंपनी IKEA के प्रतिनिधिमंडल से बातचीत की। मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड में बांस और प्राकृतिक फाइबर की काफी पैदावार है। यहां के लोग इनके उत्पाद भी तैयार कर रहे हैं। बस जरूरत है, तो एक मार्केट की। वहीं, IKEA के न्यू बिजनेस मैनेजर श्री संदीप सानन ने कहा कि झारखण्ड में इस तरह के उत्पाद की काफी संभावना है। यहां काफी कच्चा माल उपलब्ध है। यहां के लोग मेहनतकश हैं। कंपनी ईएसएएफ के माध्यम से दुमका के शिकारीपाड़ा स्थित कलस्टर से बांस उत्पाद खरीद रही है। यहां 600 लोगों को रोजगार मिला है। बैठक में उन्होंने बताया कि राज्य में 99 कलस्टर चिन्हिात किए गए हैं। प्रत्येक कलस्टर में 300-300 लोगों को रोजगार मिलेगा। इस प्रकार कम से कम 30 हजार लोगों को इससे जोड़ा जा सकता है।


     
    मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि दुमका के साथ-साथ चाकुलिया में भी बांस की काफी पैदावार है। इन क्षेत्रों में कलस्टर विकसित कर काम शुरू किया जा सकता है। इसके साथ ही अन्य प्राकृतिक फाइबर के लिए भी क्षेत्र चिन्हि‍त कर कलस्टर विकसित करें। कालिंदी समाज के लोग काफी गुणी हैं। उन्हें बाजार की जरूरत के अनुरूप उत्पाद तैयार करने के लिए प्रोत्साहित करें। झारखण्ड में असूर जाति के भी काफी लोग निवास करते हैं, उन्हें भी इससे जोड़ा जा सकता है।


     

    “लोगों को थोड़ा सा प्रशिक्षण देकर बाजार की मांग के अनुरूप उत्पाद तैयार कराया जा सकता है। इससे घर-घर में ग्रामोद्योग को बढ़ावा मिलेगा और बड़ी संख्या में रोजगार के अवसर पैदा होंगे।”
     

     
    बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री सुनील कुमार वर्णवाल, उद्योग निदेशक श्री के रविकुमार, झारक्राफ्ट के प्रबंध निदेशक श्री मंजूनाथ भजंत्री, ईएसएएफ के एसोसिएट डायरेक्टर श्री अजीथ सेन समेत अन्य लोग उपस्थित रहे।