• Raghubar Das FB
  • Raghubar Das Twitter
  • Raghubar Das Youtube
  • -A +A
  • A
  • A
  • menu

दुखिया बाबा झारखण्डवासियों का हर दुख हर लें और सबको खुशहाल बनाएं


    माननीय मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने सोमवार को झारखण्डीधाम स्थि त दुखिया बाबा की पूजा-अर्चना की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि दुखिया बाबा सभी झारखण्डवासियों का हर दुख हर लें और सबको खुशहाल बनाएं। यही मेरी कामना है। 

    दुखिया बाबा मंदिर की विशेषता है कि छत विहीन है। यह कहा जाता है कि जब भी छत बनाने का प्रयास किया जाता है तो छत बनाने की सारी सामग्री शिवगंगा के आसपास पड़ी मिलती है, इसलिए लोग इन्हें खुले आसमान का बाबा भी कहते हैं। दुखिया बाबा के नाम से प्रसिद्ध एक ही अर्घा में विद्यमान जोड़ा शिवलिंग झारखण्डीधाम को विशिष्ट बनाता है।

    यह भी मान्यता है कि कोई भी सच्चे मन से बाबा से अपनी अभिलाषा या मनोकामना करता है तो वह जरूर पूरा होता है। अपनी मनोकामना को पूरा करने के लिए श्रद्धालु कभी-कभी महीनों तो कभी-कभी वर्षों तक इस अटूट विश्वास के साथ धरना पर झारखण्डीधाम में बैठे रहते हैं। यह भी मान्यता है कि झारखंडी धाम के दुखिया बाबा पर दुखकातर है, जो सभी श्रद्धालुओं का दुख हरते हैं और उनकी मनोकामनाओं को पूरा करते हैं।

    झारखण्डीधाम गिरिडीह जिला में गिरिडीह से 55 किलोमीटर राजधनवार से 10 किलोमीटर तथा कोडरमा के पास एनएच से 40 किलोमीटर की दूरी पर अवस्थित है। झारखण्डीधाम के दक्षिण में इरगा नदी बहती है। झारखंडीधाम में केवल झारखंड से बिहार उत्तर प्रदेश मध्य प्रदेश से हजारों हजार शिव भक्त दर्शन के लिए आते हैं। इस महोत्सव में लगभग एक लाख से अधिक लोगों के भाग लेने की संभावना है।