• Raghubar Das FB
  • Raghubar Das Twitter
  • Raghubar Das Youtube
  • -A +A
  • A
  • A
  • menu

सिर्फ दलितों के नहीं, हर शोषित- वंचित वर्ग की आवाज थे बाबा साहेब: रघुवर दास


    भारत रत्न बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की जयंती के मौके पर रांची में कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने शिरकत की। लोगों को संबोधित करने से पहले श्री रघुवर दास ने बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। संबोधन की शुरूआत के बाद श्री रघुवर दास ने सबसे पहले झारखंडवासियों को भारत रत्न बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर जी को हार्दिक शुभकामनाएं दी। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि आज के दिन ऐसे महामानव ने जन्म लिया था, जिसने दलितों और पिछड़ो के जीवन उद्धार के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया।समाज में मौजूद कुरीतियों को खत्म करने के लिए आजीवन संघर्ष करते रहे।

    मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि हम सभी को बाबा साहेब की जीवनी का अध्ययन करना चाहिए, जिससे हम उनके बताए रास्ते पर चल सकें। बाबा साहेब ने हमेशा ही पढ़ाई पर ध्यान दिया। वो जानते थे कि अगर समाज की विभिन्नताओं को ज्ञान से ही खत्म किया जा सकता है।

    इसके साथ ही मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि जीवन में आगे बढ़ना है, तो बाबा साहेब की तरह ही हमें कड़ी मेहनत करनी होगी। विश्न में दो महामानव हुए हैं।एक मार्टिन लूथर किंग और दूसरे बाबा साहेब। लूथर किंग को विश्व पटल पर सम्मान मिला, मगर बाबा साहेब को वो जगह नहीं मिल पाई, जो उनको मिलनी चाहिए थी। कांग्रेस ने कभी उन्हें सम्मान नहीं दिया।

    मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने ये भी कहा कि बाबा साहेब ने बौद्ध धर्म को इसलिए अपनाया क्योंकि ये धर्म भारत से ही निकला है। कई पादरियों ने उनको लालच देने की कोशिश की, ताकि वो ईसाई धर्म को अपना सकें।

     

    कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए श्री रघुवर दास ने कहा कि कभी दलितों के उद्धार के बारे में नहीं सोचा, केवल वोट बैंक की राजनीति की। बाबा साहेब को भारत रत्न दिलाने हमें बहुत जद्दोजहद करनी पड़ी है।

    दलितों के लिए सरकार के काम को बताते हुए श्री रघुवर दास ने कहा कि उनकी सरकार ने जनजातीय समुदाय समिति का गठन किया ताकि शोषितों का उद्धार हो सके। हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी आज (14 अप्रैल) से 5 मई तक दलितों, शोषितों को ऊपर लाने के लिए छत्तीसगढ़ के एक दलित गांव से मिशन की शुरूआत कर रहे हैं। जिससे SC/ST समुदाय को बराबरी का अधिकार मिले। बाबा साहेब के रास्ते पर चलते हुए वंचितों के उत्थान के लिए हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी लगातार कोशिश कर रहे हैं। हम धन्य हैं कि हमारे पास एक ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने देश के सभी महापुरुषों को सम्मान देने का काम किया है। कांग्रेस ने बाबा साहेब के अस्तित्व को मिटाने की पूरी कोशिश की थी।

    झारखण्ड में भी अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति के उद्धार के लिए हमारी सरकार ने कई कदम उठाए हैं। गरीब और पिछड़ी जाति के लोगों तक योजनाएं हर हाल में पहुंचे,इसलिए हमनें आज चतरा के एक दलित गांव से एक कार्यक्रम की शुरुआत करने जा रहे हैं।