• Raghubar Das FB
  • Raghubar Das Twitter
  • Raghubar Das Youtube
  • -A +A
  • A
  • A
  • menu

ग्राम स्वराज अभियान की मूल संवेदना है विकासः रघुवर दास


    माननीय मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने शुक्रवार को झारखण्ड मंत्रालय में उच्च स्तरीय बैठक कर ग्राम स्वराज अभियान की तैयारियों की समीक्षा की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्राम स्वराज अभियान की मूल संवेदना विकास है। 14 अप्रैल से 5 मई 2018 तक झारखण्ड के 21जिलों के अनुसूचित जाति बाहुल्य 252 गांवों में विकास का अभियान चलाया जाएगा। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को चयनित योजनाओं के शत-प्रतिशत क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के आदेश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि कार्यक्रमों में स्थानीय सांसद, विधायक एवं जनप्रतिनिधियों को आमंत्रित कर उन्हें भी इस अभियान से जोड़ें। 

    ''सांसद, विधायक, जनप्रतिनिधि एवं अधिक से अधिक लोगों, सखी मंडलों सहित समाज के सभी वर्गों को जोड़कर इस अभियान को सच्चे अर्थों में सफल बनाने के लिए कार्य करें। इस अभियान का उद्देश्य दृष्टिगत रखें और उसी के अनुरूप इसे संचालित करें। 14 अप्रैल को प्रधानमंत्री के संबोधन का सीधा प्रसारण सभी गांवों में सुनिश्चित करें।''

    मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि 18 अप्रैल को स्वच्छ भारत दिवस के तहत राज्य और जिले के गणमान्य, जनप्रतिनिधि,खेल और कला जगत से जुड़े विशिष्ट लोगों को इस अभियान से जोड़कर स्वच्छता कार्यक्रम आयोजित करें। साथ ही मीडिया को भी प्रेस सम्मेलन तथा अन्य माध्यमों के जरिये अपने अभियान से जोड़ें।

     

    उज्ज्वला योजना की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने ग्राम स्वराज अभियान के तहत चयनित सभी गांवों में लम्बित 50 हजार परिवारों को गैस कनेक्शन उपलब्ध कराये जाने का भी आदेश दिया । इसके अलावा मुख्यमंत्री ने चयनित गांवों में लम्बित 10 हजार 300 शौचालयों का निर्माण पूरा कराने के आदेश दिए । 

    “ग्राम स्वराज अभियान के दौरान एलईडी बल्ब 50 रुपए में मिलेगा,यह बात पूरी तरह प्रचारित की जाए। चिन्हित गांवों में विद्युतीकरण का कार्य शत प्रतिशत पूरा किया जाए। सभी विभाग के प्रमुख अपने विभाग द्वारा किए जा रहे कार्यों की प्रतिदिन मॉनिटरिंग करें।”

    मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि राज्य के 68 लाख परिवारों में से 57 लाख परिवारों को नमो केयर अर्थात आयुष्मान भारत की स्वास्थ्य बीमा से आच्छादित किया जाएगा। पैसे के अभाव में स्वास्थ्य सुविधा से कोई परिवार वंचित न रहे। इसके लिए परिवार चिन्हित करने का कार्य पूरा कर लिया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस ग्राम स्वराज अभियान के तहत सामाजिक न्याय दिवस पर 14 अप्रैल को मैं स्वयं चतरा में आयोजित कार्यक्रम में भाग लूंगा।

    इस बैठक में मुख्य सचिव श्री सुधीर त्रिपाठी, अपर मुख्य सचिव श्री सुखदेव सिंह, प्रधान सचिव स्वास्थ्य श्रीमती निधि खरे, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ. सुनील कुमार वर्णवाल, प्रधान सचिव उच्च एवं तकनीकी शिक्षा विभाग श्री अजय कुमार सिंह, पंचायती राज सचिव श्री विनय चौबे,पेयजल एवं स्वच्छता सचिव श्रीमती अराधना पटनायक, समाज कल्याण सचिव श्रीमती हिमानी पाण्डेय, खाद्य आपूर्ति सचिव श्री अमिताभ कौशल तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।