• Raghubar Das FB
  • Raghubar Das Twitter
  • Raghubar Das Youtube
  • -A +A
  • A
  • A
  • menu

महिलाओं के नेतृत्व में विकास के पथ पर अग्रसर झारखण्ड


    अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर रांची में मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने सखी मंडल से जुड़ी 25 हजार से ज्यादा महिलाओं को संबोधित किया। इस मौके पर उन्होंने प्रदेश के सभी महिलाओं को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि राज्य भर से आई बहनों को सम्मानित करने का मौका मिला। ये मेरे लिए सौभाग्य की बात है। इस देश की अर्थव्यवस्था में सबसे ज्यादा भागीदारी नारी शक्ति की है। महिलाएं सशक्त होगीं तो ही सशक्त झारखंड होगा।

    “झारखण्ड देश का पहला ऐसा राज्य है, जहां एक रुपए में महिलाओं के नाम पर सम्पति रजिस्ट्री हो रही है। वर्तमान में 80 प्रतिशत रजिस्ट्री महिलाओं के नाम पर हो रही है, जिससे महिलाएं संपत्ति की मालकिन बन रही हैं।”

    मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि किसानों एवं महिला सखी मण्डलों द्वारा उत्पादित सामग्रियों के भण्डारण के लिए प्रखण्ड स्तर पर गोदाम बनाए जाएंगे। प्रखण्ड स्तर पर सरकार द्वारा कोल्ड रूम स्थापित किये जा रहे हैं। महिला सखी मण्डलों को बैंक से ऋण सरलतापूर्वक मिले, इस हेतु बैंकों को निर्देश दिए जाएंगे। बैंक को निर्देशित किया जाएगा कि मुद्रा लोन इत्यादि महिला सखी मण्डलों को आसानी से मिले। मधुमक्खी पालन से जुड़े किसानों एवं महिला सखी मण्डलों को निःशुल्क मधुबॉक्स उपलब्ध कराया जाएगा। पूरे राज्य में 2 लाख 50 हजार मधुबॉक्स निःशुल्क वितरित किये जाएंगे।

    “महिला सखी मण्डल बाजार की चिन्ता न करें। राज्य सरकार बाजार उपलब्ध करायेगी। नए-नए अर्बन हॉट के साथ-साथ पर्यटन स्थलों पर भी बाजार बनाया जा रहा है।”

    मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि महिला सखी मण्डल जो मछली पालन के क्षेत्र में रोजगार करना चाह रहे हैं, उन्हें एक रुपए के शुल्क पर सरकार द्वारा तालाब लीज दिये जाएंगे। तालाब चिन्हित कर संबंधित विभाग को अपना प्रस्ताव दें। महिला सखी मण्डलों द्वारा सैनेटरी नैपकिन का उत्पादन कराया जाएगा, जिसे स्वास्थ्य विभाग खरीदेगी। प्रति वर्ष राज्य सरकार 21 करोड़ रुपए का सैनेटरी नैपकिन स्कूल की बच्चियों को निःशुल्क उपलब्ध कराती है।

    “देश में प्राचीन काल से ही नारी शक्ति का स्थान उंचा रहा है। भारत विश्व का एक मात्र देश है, जहां नारी शक्ति की पूजा होती है। देश में मां दुर्गा, मां काली, मां लक्ष्मी, मां सरस्वती इत्यादि देवियों की पूजा की जाती है। आज हम सभी को यह संकल्प लेना चाहिए कि नारी शक्ति का सम्मान गर्व के साथ करें।”

    मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि भारत ही ऐसा देश है, जहां सरकारी नौकरी में महिलाओं को 35 प्रतिशत आरक्षण दिया जाता है। देश एवं राज्य में महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करना प्रशासन के साथ-साथ हम सभी की जिम्मेदारी है। महिला के बिना परिवार की कल्पना नहीं की जा सकती है।
    मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने भी नारी सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध प्रयास किया है। प्रधानमंत्री ने मन की बात कार्यक्रम में झारखण्ड के एक समाचार का जिक्र किया जो नारी शक्ति से जुड़ा है। ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के अंतर्गत झारखण्ड में लगभग 15 लाख महिलाओं ने संगठित होकर एक माह का स्वच्छता अभियान चलाया। उन्होंने कहा कि झारखण्ड की इन महिलाओं ने दिखाया है कि नारी शक्ति, स्वच्छ भारत अभियान की एक ऐसी शक्ति है, जो सामान्य जीवन में स्वच्छता के अभियान को, स्वच्छता के संस्कार को प्रभावी ढंग से जन-सामान्य के स्वभाव में परिवर्तित कर रही हैं। झारखण्ड की महिलाओं की शक्ति को प्रधानमंत्री ने देश और दुनिया के समक्ष रखने का काम किया। उन्होंने बताया कि कितने कम समय में यहां की महिलाओं ने 1.70 लाख शौचालय निर्माण का कार्य किया है। जो काफी प्रशंसनीय और सराहनीय कार्य है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आप महिला संगठनों के प्रयास से यह तय है कि 2018 तक झारखण्ड को खुले से शौचमुक्त (ओडीएफ) कर दिया जाएगा।

    “सामाजिक एवं आर्थिक जीवन के हर क्षेत्र में महिलाओं की बराबरी की भागीदारी सुनिश्चित करना हम सबका कर्तव्य और जिम्मेदारी है। तभी न्यू इंडिया का सपना पूरा होगा। झारखण्ड सरकार भी महिलाओं को आर्थिक दृष्टिकोण से सशक्त करने का कार्य कर रही है।”

    मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि अण्डा उत्पादन में भी रोजगार की अच्छी संभवनाएं हैं। अण्डा उत्पादन से जुड़े महिला समूहों को अब 4 लाख रुपए ऋण स्वरूप उपलब्ध कराये जाएंगे। उत्पादित अण्डों को गांव के विद्यालय समिति द्वारा खरीदा जाएगा। मुख्यमंत्री ने ग्रामीण विकास मंत्री, सचिव, अधिकारी सहित जेएसएलपीएस की पूरी टीम को बधाई दी। उन्होंने कहा कि विभाग के द्वारा आदिवासी, अनुसूचित जाति, जनजाती की गरीब महिलाओं को एसएचजी से जोड़कर स्वांबलम्बी बनाने का प्रतिबद्ध प्रयास किया है। कार्यक्रम में 70 हजार से अधिक सखी मण्डलों को 1100 करोड़ रुपए का चेक दिए गए। कार्यक्रम के दौरान सखी मण्डल से संवरता झारखण्ड पर आधारित पुस्तक शक्ति पथ का विमोचन किया गया। साथ ही झार स्वाद (ईमली प्रडक्ट) लांच किया गया।
    कार्यक्रम में ग्रामीण विकास मंत्री श्री नीलकण्ठ सिंह मुण्डा, हटिया विधायक श्री नवीन जयसवाल, खिजरी विधायक श्री राम कुमार पाहन, रांची मेयर श्रीमती आशा लकड़ा, ग्रामीण विकास विभाग के प्रधान सचिव श्री अविनाश कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री सुनील कुमार वर्णवाल, राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती कल्याणी शरण, विशेष सचिव श्री पारितोष उपाध्याय सहित पूरे राज्य के 24 जिलों के सुदूर गांव से 25000 से ज्यादा सखी मंडल की महिलाएं शामिल थीं।